गाय से रेप करने वाला हाफिज अब पहुंचा सलाखों के पीछे, अप्राकृतिक सेक्स के लिए किया ऐसा घिनौना काम

0
81
Hafiz, who raped cow

Crime News | उत्तराखंड के एक शहर में एक बेहद हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। पुलिस ने इस जघन्य कृत्य के बाद आरोपी युवक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। शहर में किसी भी तरह के सांप्रदायिक तनाव को देखते हुए पुलिस भी अलर्ट मोड पर आ गई। ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ की रिपोर्ट के मुताबिक हल्द्वानी में एक 25 साल के युवक को ‘गाय’ के साथ अप्राकृतिक यौनाचार करते पकड़ा गया।

युवक की जमकर पिटाई करने के बाद लोगों ने उसे पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने आरोपी युवक को आज जेल भेज दिया। बुधवार को मुखानी पुलिस स्टेशन में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 377 (अप्राकृतिक यौन संबंध) और पशु क्रूरता निवारण अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था

मुखानी थाने की उपनिरीक्षक प्रीति ने बताया कि आरोपी हाफिज को ग्रामीणों ने यह घिनौनी हरकत करते हुए पकड़ लिया और बुधवार को पुलिस को सौंप दिया। आरोपी को स्थानीय अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। लामाचोर निवासी महेश चंद ने बताया कि उन्होंने गाय को खेतों में चराने के लिए छोड़ दिया था।

दोपहर 1 बजे के करीब जब वह अपनी गाय को देखने गया तो उसने देखा कि बच्ची नगर नंबर 1 के एक बगीचे के पास बंधी गाय के साथ एक व्यक्ति सेक्स कर रहा है। जैसे ही मैंने शोर मचाया, वह भाग गया। मैंने उसका पीछा किया और ग्रामीणों से उसे पकड़ने के लिए मदद मांगी।

हमने आरोपी युवक का पीछा किया और उसे कमलुवा गाजा चौराहे के पास से पकड़ लिया। आरोपी युवक को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। एसआई प्रीति ने बताया कि आरोपी युवक की इस घिनौनी हरकत के बाद कई संगठनों के लोगों ने प्रदर्शन किया था। आरोपी मुस्लिम युवक की पिटाई के बाद युवक का सिर भी गंजा कर दिया गया।

आक्रोशित लोगों ने आसपास के मुस्लिम दुकानदारों को अपनी दुकानें बंद करने पर मजबूर कर दिया. किसी भी सांप्रदायिक तनाव की स्थिति से निपटने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल भी तैनात किया गया था।

स्थानीय लोग भी मुखानी थाने पहुंचे

आरोपी को मुखानी थाने ले जाने की सूचना मिली तो वहां भी लोग पहुंच गए। आरोपितों पर सख्त कार्रवाई की मांग करने लगे। हंगामे की सूचना पर लालकुआ सीओ संगीता मौके पर पहुंची।

इसके बाद भी लोग हंगामा करते रहे। काफी हो-हल्ला और कड़ी कार्रवाई के आश्वासन के बीच लोग वहां से परीक्षण के बाद वापस लौट गए। हालांकि इस दौरान पुलिस के पसीने छूटते रहे। बाद में राहत की सांस ली।

पुलिस की सतर्कता से शांति बनी रही

लामाछोड़ में पशु क्रूरता को लेकर बुधवार को शुरू हुआ हंगामा करीब तीन घंटे तक चला। इस घटनाक्रम की भनक लगते ही कई दुकानदार अपनी दुकानों से बाहर चले गये। भीड़ में शामिल कुछ लोगों ने समुदाय विशेष के लोगों की दुकानें बंद कराने का प्रयास किया।

उधर, पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए मामले में कार्रवाई शुरू कर दी है। लोगों के गुस्से को शांत करने के साथ ही आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। जबकि स्थिति सामान्य बनाए रखने के लिए मौके पर पुलिस बल तैनात किया गया है।

लामाचौड़ इलाके में पुलिस बल तैनात

घटना कोई बड़ा रूप न ले ले इसके लिए पुलिस अलर्ट मोड पर आ गई है। इलाके में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। हालांकि अधिकांश पुलिस बल कैंची मेला व यातायात व्यवस्था में लगा हुआ है।

इसके बावजूद थाना क्षेत्र को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। सीओ संगीता ने बताया कि घटना स्थल के वीडियो आदि की भी जांच की जाएगी। सुरक्षा के लिए पुलिस बल तैनात किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here