मिर्जापुर के बाउजी कुलभूषण खरबंदा ने की महाराजा की पत्नी से शादी, 77 साल की उम्र में बेहद शाही है निजी जिंदगी

0
123
Bauji Kulbhushan Kharbanda of Mirzapur

Kulbhushan Kharbanda : भूले नहीं हैं बॉलीवुड के दमदार विलेन ‘शकाल’! कुलभूषण खरबंदा, जो ‘लगान’, ‘दामिनी’ जैसी फिल्मों और ‘मिर्जापुर’ जैसी वेब सीरीज में नजर आ चुके हैं, आज 21 अक्टूबर 2022 को अपना 78वां जन्मदिन मना रहे हैं।

कुलभूषण खरबंदा को 1980 में शकल के रूप में उनकी भूमिका के लिए सबसे ज्यादा याद किया जाता है। फिल्म शान. कुलभूषण खरबंदा बॉलीवुड के अलावा पंजाबी फिल्मों में भी नजर आ चुके हैं।

फिल्मी दुनिया में कदम रखने से पहले कुलभूषण दिल्ली स्थित थिएटर ग्रुप ‘यात्रिक’ के साथ काम कर चुके हैं। फिल्मों में साइड रोल को जान देने वाले कुलभूषण खरबंदा की गिनती कमाल के अभिनेताओं में होती है। आइए आज उनके जन्मदिन पर जानते हैं उनकी निजी जिंदगी से जुड़ी कुछ बातें।

पहले कोटा के महाराज की वाइफ थीं कुलभूषण खरबंदा की पत्नी

मिर्जापुर के बाउजी Kulbhushan Kharbanda ने महाराजा के बीवी से की शादी, 77 की उम्र में खूब रॉयल है पर्सनल लाइफ

कुलभूषण खरबंदा का जन्म 21 अक्टूबर 1944 को पंजाब में हुआ था। 60 के दशक में कुलभूषण दिल्ली के थिएटर ग्रुप से जुड़े थे। 1974 में साई परांजपे को मिली फिल्म ‘जादू का शंख’ में।

कुलभूषण ‘फायर’, ‘अर्थ’ और ‘वाटर’ जैसी फिल्मों में नजर आ चुके हैं। पर्सनल लाइफ की बात करें तो उन्होंने बॉलीवुड में आने से पहले ही शादी कर ली थी।

खरबंदा ने महेश्वरी नाम की एक महिला से शादी की, जो राजाओं-महाराजाओं के परिवार से थी। माहेश्वरी इस शादी से पहले राजस्थान के कोटा के महाराजा की पत्नी थीं।

इसके अलावा वह राजस्थान के प्रतापगढ़ के महाराजा राम सिंह की बेटी भी थीं। बाद में माहेश्वरी ने कुलभूषण से दूसरी शादी की।

प्रियंका चोपड़ा की तरह ही बेटी की हुई खूब रॉयल वेडिंग

कुलभूषण की एक बेटी भी है जिसका नाम श्रुति खरबंदा है। श्रुति खरबंदा की शादी वहीं हुई जहां प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस शादी के बंधन में बंधे थे।

ये साल भी साल 2018 में था, जब श्रुति ने जोधपुर के उम्मेद भवन में रोहित नवाले से शाही अंदाज में शादी की थी। इस शादी में परफॉर्म करने के लिए ब्रिटिश सिंगर जय सीन भी जोधपुर पहुंचे थे।

फिल्मों के लिए मुंबई गए

पढ़ाई के बाद कुलभूषण और उनके कुछ दोस्तों ने एक थिएटर ग्रुप ‘अभियान’ शुरू किया और उसके बाद वह ‘यात्रिक’ से जुड़ गए।

वे इस ग्रुप के पहले पेड आर्टिस्ट थे, हालांकि बाद में यह ग्रुप बंद हो गया, जिसके बाद साल 1972 में वे कोलकाता के थिएटर ग्रुप से जुड़ गए। यहां कुछ दिन काम करने के बाद वे फिल्मों के लिए मुंबई चले गए।

कई फिल्मों और टीवी शो का हिस्सा

उन्हें सबसे पहले फैंस ने श्याम बेनेगल की फिल्म ‘निशांत’ में देखा था। इसके बाद उन्हें फिल्मों की लाइनें मिलने लगीं। शशि कपूर के प्रोडक्शन की फिल्म ‘कलयुग’ में उन्होंने रीमा लागू के पति और राज बब्बर के भाई की भूमिका निभाई थी।

इसके अलावा वह ‘जोधा अकबर’, ‘लगान’ ‘भूमिका’, ‘अर्थ’, ‘कलयुग’, ‘मैं जिंदा हूं’ और ‘नसीब’ जैसी फिल्मों में भी नजर आ चुके हैं। कुलभूषण फिल्मों के अलावा ‘शन्नो की शादी’ और ‘माही वे’ जैसे शो में भी नजर आ चुके हैं।

ससुर और बहू भूमिकाओं के लिए चर्चा में रहे हैं

हाल के दिनों में कुलभूषण वेब सीरीज ‘मिर्जापुर’ और ‘मिर्जापुर 2’ को लेकर चर्चा में थे। इस शो में उन्होंने सत्यानंद त्रिपाठी यानी बाउजी का रोल प्ले किया था।

इस शो में रसिका दुग्गल ने उनके साथ कालेन भैया के पिता का किरदार निभाने वाले सत्यानंद त्रिपाठी की बहू का किरदार निभाया था।

इस शो में कुलभूषण खरबंदा का किरदार अपनी ही बहू बीना त्रिपाठी के साथ कुछ ऐसा कर जाता है, जिसकी चर्चा शो के बाद से ही काफी होती रही है।

दरअसल, एक सीन में बीना त्रिपाठी के रोल में रसिका तेल से अपने पैरों की मसाज कर रही हैं, जिसे देखकर सत्यानंद त्रिपाठी उन्हें अपने करीब आने को कहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here