Crime News : बैंक मैनेजर सुरभि ने 6वीं पास की शाहिद से की शादी, 8 साल बाद फंदे पर लटकीमिली फांसी

0
93
बैंक मैनेजर सुरभि ने 6वीं पास की शाहिद से की शादी, 8 साल बाद फंदे पर लटकीमिली फांसी

Crime News : राजस्थान के जयपुर में 6वीं पास मुस्लिम लड़के शाहिद से प्रेम विवाह करने वाली एमबीए होल्डर महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

मृतक सुरभि कुमावत पंजाब नेशनल बैंक में मार्केटिंग मैनेजर के पद पर कार्यरत थी। सुसाइड नोट में उसने आत्महत्या का कारण बताया कि उसका पति और उनकी बेटी उससे नफरत करते थे।

सुरभि के मुताबिक, इनका इस्तेमाल किया गया था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना 1 अक्टूबर 2022 (शनिवार) को जयपुर की मुहाना मंडी में हुई है। यहां 30 वर्षीय सुरभि कुमावत अपने 38 वर्षीय पति शाहिद और 5 वर्षीय बेटी मसायारा के साथ इस्कॉन रोड स्थित नारायण सरोवर में रहती थीं।

घटना की रात सुरभि के पति और बेटी सोसायटी के ही एक कार्यक्रम में गए थे। रात 11 बजे दोनों के वापस आने के बाद सुरभि दूसरे कमरे में सोने चली गई।

अगले दिन रविवार को जब शाहिद सुबह उठे तो उन्होंने सुरभि को फोन किया। लेकिन कोई आवाज नहीं आई। उन्होंने जाकर देखा तो सुरभि चुन्नी का फंदा बनाकर पंखे से लटकी नजर आई।

उन्होंने तुरंत पुलिस को घटना की सूचना दी और पुलिस ने आकर आवश्यक कार्रवाई की। इस दौरान शव के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला। नोट में लिखा था, “मेरे पति और मेरी बेटी मुझसे नफरत करते हैं। मैं इस दुनिया से परेशान हूं और जा रही हूं।”

वही सुसाइड नोट आगे लिखा था, मुझे कोई नहीं समझता। हर कोई चोट पहुंचाना चाहता है। मैं बस खुश रहना चाहती हूं। मैं किसी के जीवन में समस्या नहीं बनना चाहती।

मेरे अपने पति ने मुझे छोड़ने की धमकी दी। मुझे स्वार्थ के लिए इस्तेमाल किया गया था,  मुझे दुख है कि बेटी कि मैं तुझे नहीं देख पाऊँगी।

कथित तौर पर सुरभि के कमरे का सामान बिखरा हुआ था। उनके पति शाहिद ने बताया कि जब वे कमरे में गए तो सुरभि की लाश उनके घुटनों पर पड़ी मिली। शाहिद के मुताबिक, उन्होंने ही फंदा काटा और सुरभि को बेड पर लिटा दिया।

सुरभि की मौत के बाद मौके पर ही उसके ससुराल वालों और मायके पक्ष के लोगों के बीच मारपीट हो गई। पुलिस ने स्थिति को संभाला और पोस्टमार्टम के बाद शव को मायके को सौंप दिया।

प्रशासन की ओर से पूरी घटना की वीडियो रिकॉर्डिंग की गई और मौके पर एफएसएल जांच भी की गई। पुलिस ने इस मामले में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

सुरभि मूल रूप से राजस्थान के टोंक जिले की रहने वाली थीं लेकिन उनका परिवार पिछले 25 सालों से जयपुर में ही रहता था। करीब 8 साल पहले एक इंग्लिश स्पीकिंग क्लास में शाहिद की एक और हिंदू गर्लफ्रेंड ने सुरभि को शाहिद से मिलवाया था।

Image

शाहिद बसबदनपुरा का रहने वाला था, जो पानी सप्लाई करता था। सुरभि ने एमबीए की पढ़ाई की थी जबकि शाहिद ने सिर्फ 6वीं तक ही पढ़ाई की थी। बाद में सुरभि और शाहिद के बीच नजदीकियां बढ़ीं।

साल 2015 में सुरभि को पंजाब नेशनल बैंक में नौकरी मिल गई। नौकरी मिलने के बाद दोनों गाजियाबाद चले गए और वहां के आर्य समाज संस्थान में 2016 में शादी कर ली।

करीब 5 साल पहले सुरभि ने मसाइरा नाम की एक बेटी को जन्म दिया। सुरभि घर का काम करती थी और घर चलाती थी जबकि शाहिद बच्चे की देखभाल के नाम पर घर में ही रहता था।

जून 2021 में सुरभि ने जयपुर के इस्कॉन रोड मुहाना में एक फ्लैट खरीदा और अपने पति शाहिद और बेटी के साथ रहने लगी।

सुरभि के पास कार थी जबकि शाहिद बाइक चलाते थे। सुरभि बुलेट बाइक लेना चाहती थी, जिसके लिए वह कुछ दिन पहले शोरूम भी गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here